Saturday, April 18, 2015

ज्योतिष :कुंडली से जाने :सरकारी नौकरी के योग :नौकरी प्राप्ति का समय: उपाय :Astrology: Government job :

कुंडली से जाने सरकारी नौकरी के योग :
 ज्योतिषीय विश्लेषण के लिए हमारे शास्त्रों मे कई  सूत्र दिए हैं।
भाव:कुंडली के पहले, दसवें तथा ग्यारहवें भाव और उनके स्वामी से सरकारी नौकरी के बारे मैं  जान सकते हैं।
 सूर्य. चंद्रमा व बृहस्पति सरकारी नौकरी मै उच्च पदाधिकारी बनाता है।
भाव :द्वितीय, षष्ठ एवं दशम्‌ भाव को अर्थ-त्रिकोण सूर्य की प्रधानता होने पर  सरकारी नौकरी प्राप्त करता है।

 नौकरी के कारक ग्रहों का संबंध सूर्य व चन्द्र से हो तो जातक सरकारी नौकरी पाता है।
  Astrology, Numerology, Palmistry & Vastu Consultant : Mob No. 08861209966,09893234239,jio 08319942286
 कुंडली के अनुसार सरकारी नौकरी  के लिए  योग :
(1) दसवें भावमें शुभ ग्रह होना  चाहिए।
(2) दसवें भाव में सूर्य तथा मंगल एक साथ होना चाहिए।
(3)पहले, नवें तथा दसवें घर में शुभ ग्रहों को
होना चाहिए।
  इन भाव पर कोई शुभ ग्रह बैठा हुआ है या किसी शुभ ग्रह की दृष्टि इन भाव पर पड़ रही है तो सरकारी नौकरी के योग बन पाते  है।
 यदि इन भाव पर कोई अशुभ ग्रह बैठा हुआ है या किसी अशुभ ग्रह की दृष्टि इन भाव पर पड़ रही है तो सरकारी नौकरी के योग नहीं बन पाते  है।
   ज्योतिष के साधारण से उपाय से   ग्रह आपके अनुकूल हो सकते हैं और सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। सूर्य. चंद्रमा व बृहस्पति सरकारी नौकरी मै उच्च पदाधिकारी बनाता है।
द्वितीय, षष्ठ एवं दशम्‌ भाव को अर्थ-त्रिकोण सूर्य की प्रधानता होने पर  सरकारी नौकरी करता है। केंद्र में गुरु स्थित होने पर सरकारी नौकरी मे  उच्च पदाधिकारी का पद प्राप्त होता है।

 डी 9 ,डी १० चार्ट मे भी देखना है। 
  कुंडली से जाने नौकरी प्राप्ति का समय  नियम: 
 प्रथम, दूसरा भाव, छठे भाव,दशम भाव एवं एकादश भाव का संबंध  या इसके स्वामी से होगा तो  नौकरी के योग बनते  है ।

लग्न के स्वामी की दशा और अंतर्दशा में 
नवमेश की दशा या अंतर्दशा में 
षष्ठेश की दशा या, अंतर्दशा में
प्रथम,दूसरा , षष्ठम, नवम और दशम भावों में स्थित ग्रहों की दशा या अंतर्दशा में 

दशमेश की दशा या अंतर्दशा में
द्वितीयेश और एकादशेश की दशा या अंतर्दशा में  
नौकरी मिलने के समय जिस ग्रह की दशा और अंतर्दशा चल रही है उसका संबंध किसी तरह दशम भाव या दशमेश से ।
द्वितीयेश और एकादशेश की दशा या अंतर्दशा में भी नौकरी मिल सकती है।

छठा भाव :छठा भाव नौकरी का एवं सेवा का है।
छठे भाव का कारक भाव शनि है।
 दशम भाव या दशमेश का संबंध छठे भाव से हो तो जातक नौकरी  करता है।

राहु और केतु की दशा, या अंतर्दशा में :
जीवन की कोई भी शुभ या अशुभ घटना राहु और केतु की दशा या अंतर्दशा में हो सकती है। 
 गोचर: गुरु गोचर में दशम या दशमेश से नौकरी मिलने के समय केंद्र या त्रिकोण में ।गोचर : शनि और गुरु एक-दूसरे से केंद्र, या त्रिकोण में हों, तो नौकरी मिल सकती है,
गोचर  : नौकरी मिलने के समय शनि या गुरु का या दोनों का दशम भाव और दशमेश दोनों से या किसी एक से संबंध होता है।सरकारी नौकरी:यह जान लें कि दशम भाव बली हो तो नौकरी  .  
 कामयाबी योग :
कुंडली का पहला, दूसरा, चौथा, सातवा, नौवा, दसवा, ग्यारहवा घर तथा इन घरों के स्वामी  अपनी दशा और अंतर्दशा में  जातक को कामयाबी प्रदान करते है। पंच महापुरूष योग:  जीवन में सफलता एवं उसके कार्य क्षेत्र के निर्धारण में महत्वपूर्ण समझे जाते हैं।पंचमहापुरूष योग कुंडली में मंगल, बुध, बृहस्पति, शुक्र एवं शनि अपनी स्वराशि अथवा उच्च राशि का होकर केंद्र में स्थित होने पर महापुरुष योग बनता है।
  Astrology, Numerology, Palmistry & Vastu Consultant : Mob No. 08861209966,09893234239,jio 08319942286
 फलादेश कैसे करते  है ----
 - जो ग्रह अपनी उच्च, अपनी या अपने मित्र ग्रह की राशि में हो - शुभ फलदायक होगा।
- इसके विपरीत नीच राशि में या अपने शत्रु की राशि में ग्रह अशुभफल दायक होगा।
- जो ग्रह अपनी राशि पर दृष्टि डालता है, वह शुभ फल देता है।
-त्रिकोण के स्वा‍मी सदा शुभ फल देते हैं।
- क्रूर भावों (3, 6, 11) के स्वामी सदा अशुभ फल देते हैं।
- दुष्ट स्थानों (6, 8, 12) में ग्रह अशुभ फल देते हैं।
- शुभ ग्रह केन्द्र (1, 4, 7, 10) में शुभफल देते हैं, पाप ग्रह केन्द्र में अशुभ फल देते हैं।
-बुध, राहु और केतु जिस ग्रह के साथ होते हैं, वैसा ही फल देते हैं।
- सूर्य के निकट ग्रह अस्त हो जाते हैं और अशुभ फल देते हैं। 

  Astrology, Numerology, Palmistry & Vastu Consultant : Mob No. 08861209966,09893234239,jio 08319942286
सरकारी नौकरी के लिए तीन मुख्य ग्रह होते हैं  .   
ग्रह :  सूर्य, गुरू और शनि। 
ग्रह अनुकूलता के लिए उपाय:मंत्रो का जाप,रत्न ,आदि के द्यारा।
सूर्य  ग्रह : सूर्य की अनुकूल करने के लिए  प्रतिदिन आदित्यह्रदयस्त्रोत का पाठ करें तथा  सूर्य को जल अर्पण करें।
आदित्य ह्रदय स्तोत्र का पाठ करे.
 ॐ घृणी सूर्याय नमः  का कम से कम 108 बार जप कर ले
 गायत्री का जप कर ले
 घर की पूर्व दिशा से रौशनी  आयेगी तो अच्छा रहेगा ।
घर में तुलसी का पौधा जरूर लगा दे
पिता की सेवा
शराब और मांसाहार न खिलाये
शिवजी ,पीपल के उपाय।

 कॅरियर में सफलता के लिए आदित्य हृदय स्त्रोत का प्रतिदिन पाठ करें।
लाल वस्त्र, लाल चन्दन, तांबे का बर्तन, केसर, गुड़, गेहूं का दान रविवार को करना शुभ फल प्रदान करता है।
रविवार काव्रत रखें, इस दिन नमक का प्रयोग न करें।
घर से बहार निकलने से पहले थोड़ा सा गुड़ खाएं।
 माता पिता के पांव छुकर आशीर्वाद लें।

गुरू ग्रह :गुरू  ग्रह को अनुकूल करने के लिए पीली वस्तुओं का दान तथा , भगवान विष्णु या कृष्ण की पूजा आराधना करनी चाहिए।
शनि ग्रह :शनि ग्रह को अनुकूल करने के लिए ,शनिवार को  दान करना चाहिए। 

  Astrology, Numerology, Palmistry & Vastu Consultant : Mob No. 08861209966,09893234239,jio 08319942286
 कुछ सरल उपाय:उपाय आस्था के साथ करना चाहिए
- तांबे के लोटे से सुबह-सुबह सूर्य को जल चढ़ाना चाहिए ।   
- हनुमान जी के दर्शन करें।
-पक्षियों को जो ,बाजरा   खिलाना चाहिए।    हो सके तो   सात प्रकार के अनाजों को एकसाथ मिलाकर पक्षियों को खिलाएं। गेहूं, ज्वार, मक्का, बाजरा, चावल, दालें आदि हो सकती हैं। सुबह-सुबह यह उपाय करें।
-गाय को आटा और गुड़ खिला देवे । 
-इसलिए बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद लेते रहना चाहिए।
- हनुमान जी तस्वीर रखें और उनकी पूजा करें। हर मंगलवार को जाकर बजरंग बाण का पाठ करें। 

-हनुमान चालीसा का पाठ करें।  -
-सुबह स्नान करते समय पानी में थोड़ी पिसी हल्दी मिलाकर स्नान करते हैं। 
- गणेश जी का कोई ऐसा चित्र या मूर्ति घर में रखें या लगाएं, जिसमें उनकी सूंड़ दाईं ओर मुड़ी हो। गणेश जी की आराधना करें।
- शनिवार को शनि देव की पूजा करके आगे लिखे मंत्र का 108 बार जप करें।
ॐ शं शनैश्चराय नम:
सूर्य के उपाय 
-आदित्य ह्रदय स्तोत्र का पाठ करे 3 बार सूर्य के सामने
- ॐ घृणी सूर्याय नमः  का कम से कम 108 बार जप कर ले
- गायत्री का जप कर ले
- घर की पूर्व दिशा से रौशनी  आयेगी तो अच्छा रहेगा ।

-पूर्व दिशा मै सोने से असुंध विचार सुंध होते हैं। 
 -घर में तुलसी का पौधा जरूर लगा दे.
-पिता की सेवा।
-शराब और मांसाहार न खिलाये
-शिवजी ,पीपल के उपाय।

 इन उपाय को करने से ग्रहो की अनुकूलता होती  है और सरकारी नौकरी का मार्ग खुलते  है।
नोट :अपनी  कुंडली अच्छे ज्योतिषी  को  दिखाइए  और ग्रहों को जानकर उनकी दशा, अंतर्दशा तथा प्रत्यंतर में उपाय करे  ।
ज्योतिष,वास्तु ,एक्यूप्रेशर पॉइंट्स ,हेल्थ , इन सबकी डेली टिप्स के लिए-:
फेसबुक पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें एवं पेज पर लाइक बटन दबाएं https://www.facebook.com/ShreeSiddhiVinyakJyotishAvmVaastuP
निवेदन  :- अगर आपको दी गई जानकारी अच्छी लगे तो कृपया शेयर करें और अपने मित्रों को भी लाइक करने के लिए कहै .
धन्यवाद।
 You Tube :click link:Astrology Simplified By Housi Lal Chourey https://www.youtube.com/channel/UChJUKgqHqQQfOeYWgIhMZMQ

  Astrology, Numerology, Palmistry & Vastu Consultant : Mob No. 08861209966,09893234239,jio 08319942286
 मुझे ईमेल करें ; ID : housi.chourey@gmail.com  .
लिंक को क्लिक  करके  लाइक करें,------
 https://www.youtube.com/channel /UChJUKgqHqQQfOeYWgIhMZMQ