Wednesday, July 19, 2017

ज्योतिषी सलाह: क्या आप स्वतंत्र व्यवसाय करना चाहते हैं? Astrologer Advice: Do you want to do independent business?


Astrologer Housi lal chourey:
ग्रह-तारे: click the blog. 09893234239, 08319942286,08861209966:housi.chourey@gmail.com:
http://hchourey.blogspot.in/ :
ज्योतिषी सलाह: क्या आप स्वतंत्र व्यवसाय करना चाहते हैं? Astrologer Advice: Do you want to do independent business?
कुंडली विश्लेषण में आज हम चर्चा कर रहे हैं कि जातक को स्वतंत्र व्यवसाय करना हो तो कुंडली में हमें कौन से भाव ग्रहों को देखना चाहिए ।इसके लिए हमें कुंडली का प्रथम भाव द्वितीय भाव सप्तम भाव दशम भाव और ग्यारहवा भाव तथा उनके स्वामी ग्रहो को देखना चाहिए ।स्वतंत्र व्यवसाय के लिए लग्न भाव लग्नेश तथा सप्तम भाव सप्तमेश का बली होना अत्यंत आवश्यक है तथा लग्नेश और सप्तमेश केंद्र त्रिकोण में उच्च राशि के 84स्व राशिके मित्र राशि के होना चाहिए इसके पश्चात हम देखेंगे कौन सा व्यवसाय करना चाहिए ।इसके लिए दशम भाव दशमेश का बलवान होना आवश्यक है अगर दशम भाव में अग्नि तत्व की राशियां हो तो जातक को कोचिंग कंसल्टेंसी आदि कार्य में सफलता मिलती है अगर पृथ्वी तत्व की राशियां दशम भाव में होने पर जातक को शारीरिक श्रम वाले व्यवसाय जैसे कृषि ,भवन निर्माण आदि में सफलता प्राप्त होती है ।दशम भाव में जल तत्व की राशियां हो तो जातक को तेल ,जहाज से ,दूध व्यवसाय ,द्रव पदार्थ आदि में सफलता प्राप्त होती है ।अगर दशम भाव में वायु तत्व की राशियां हो तो जातक को परामर्श  देना चाहिए, प्रकाशन में जाना चाहिए ,रिपोर्टिंग, मार्केटिंग आदि के कार्यों में अपना कोशल दिखाते हैं ।ऊपर बताए हुए भाव तथा उनके स्वामियों को नवांश, दशमांश कुंडली में भी देखना चाहिए ।ऊपर बताये भाव , ग्रहों को देखकर स्वतंत्र व्यवसाय व्यवसाय करना चाहिए ।जब ऊपर बताये ग्रहो की दशा, अंतर्दशा चलती है तब जातक को  स्वतंत्र व्यवसाय सफलता प्राप्त होती है ।धन्यवाद।

1 comment:

Vashikaran Specialist Astrologer said...

you are providing us many type of services,, like black magic,, love merrege solutions, free astrologers advise, spirit related solution etc. it's really very helpfull our family and business.