Monday, November 17, 2014

ज्योतिष :नाम राशि के अनुसार रखा जाना चाहिए :किन राशिओ से नाम ना रखे :Astrology: The name should be according to rashi:

  • किस राशि के कौन-कौन से नाम अक्षर हैं:
  • |किन राशिओ से नाम ना रखै :
  •  |किन अक्षरो से नाम ना रखै :
  • निवास के लिये उपयुक्त नगर :
  • नामराशि से नगर की नामराशि:
 राशि के नाम अक्षर से ही नाम रखै-
किस राशि के कौन-कौन से नाम अक्षर हैं:
राशिनाम       अक्षर
• मेष- चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ
• वृष- ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो
• मिथुन- का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह
• कर्क- ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो
• सिंह- मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे
• कन्या- ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो
• तुला- रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते
• वृश्चिक- तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू
• धनु- ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे
• मकर- भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी
• कुंभ- गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा
• मीन- दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची 
|किन अक्षरो से नाम ना रखै :
 राशिनाम       अक्षर
 मेष- का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह
तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू
वृष- ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो
ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे
मिथुन-मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे
भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी
कर्क- ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो
गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा
सिंह -रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते
दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची
कन्या- तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू
चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ
तुला -ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे
ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो
वृश्चिक- भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी
मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे
धनु- गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा
ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो
मकर-दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची
रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते
कुंभ-चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ
ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो
मीन- ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो
रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते
ऊपर  बताऐ   अक्षरो पर नाम ना रखै
किन राशिओ से नाम ना रखे।
मेष राशि वाले मिथुन राशि,तुला राशि ,वृश्चिक राशि और मीन राशि से नाम ना रखे।
वृष राशि वाले मिथुन राशि, वृश्चिक राशि , धनु राशि , मीन राशि से नाम ना रखे।
मिथुन राशि वाले कर्क राशि ,वृश्चिक राशि ,धनु राशि , कुम्भ राशि से नाम ना रखे।
कर्क राशि वाले, वृष राशि , मिथुन राशि , कन्या राशि वृश्चिक राशि कुम्भ राशि , से नाम ना रखे।
सिंह राशि वाले, वृष राशि ,तुला राशि ,मकर राशि, कुम्भ राशि से नाम ना रखे।
कन्या राशि वाले वृश्चिक राशि ,धनु राशि. मीन राशि ,वृष राशि से नाम ना रखे।
तुला राशि वाले वृश्चिक राशि , धनु राशि , मीन राशि ,वृष राशि से नाम ना रखे।  
वृश्चिक राशि वाले धनु राशि ,कर्क राशि मिथुन राशि , मीन राशि से नाम ना रखे।
धनु राशि वाले मेष राशि, मिथुन राशि, कर्क राशि,कन्या राशि, वृश्चिक राशि से नाम ना रखे। मकर राशि वाले मीन राशि मेष राशि, मिथुन राशि, सिंह राशि ,कन्या राशि से नाम ना रखे।
 कुम्भ राशि वाले मेष राशि, मिथुन राशि, सिंह राशि कर्क राशि मीन राशि से नाम ना रखे।
मीन राशि वाले वृष राशि , मिथुन राशि , कन्या राशि वृश्चिक राशि कुम्भ राशि से नाम ना रखे। (मात्राओ और अक्षरों मै फेर बदल कर सकते है )  .

 मेष राशि के व्यक्तियों का भाग्य उदय 16, 22, 28, 32, एवं 36वें वर्ष में होता है.
मित्र-राशियाँ:- सिंह, तुला और धनु राशियाँ इनकी मित्र होती है.
शत्रु-राशियाँ:- मिथुन, कन्या राशि, यदि इस राशि वाले व्यक्ति इन राशियों के व्यक्तियों में प्रेम व सदभावना रखे तो, शुभ होगा, जो कि उनकी मित्र राशियाँ है. जीवन में सफलता पा सकते है.,
 नाम-अक्षर:- चु, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ
वृष राशि का भाग्य उदय:- 20 से 22 वर्ष के मध्य अक्सर हो जाता है. इनके जीवन के महत्वपूर्ण वर्ष 29, 30, 47, 56, 65, 74 व 83वां वर्ष अत्यंत महत्वपूर्ण होता है.
नाम अक्षर:- ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो,
मित्र राशियां:- कुम्भ तथा मकर,
शत्रु राशियां:- सिंह, धनु और मीन,
मिथुन राशि
अनुकूल वर्ष:- 21, 30, 39, 48, 57, 66, व 75वां वर्ष अत्यंत महत्वपूर्ण.
मित्र राशियां:- तुला, सिंह, कन्या, कुम्भ,
शत्रु राशियां:- कर्क, वृष, मेष,
नाम अक्षर:- का, की, कू, घ, ङ, के, छ, को, हा,
इस व्यक्ति का भाग्य उदय:- 22वें वर्ष में होता है. वैसे इनके जीवन में 22, 31, 40, 49, 58, 67, एवं 86वें वर्ष लाभदायक रहते है.
कर्क राशि
इस व्यक्ति का भाग्य उदय:- 22वें वर्ष में होता है. वैसे इनके जीवन में 22, 31, 40, 49, 58, 67, एवं 86वें वर्ष लाभदायक रहते है.
नाम अक्षर:- ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो,
मित्र राशियां:- वृश्चिक, मीन, तुला,
शत्रु राशियां:- मेष, सिंह, धनु, मिथुन, मकर, व कुम्भ,
सिंह राशि
नाम अक्षर:- मा, मी, मु, में, मो, टा, टी, टू, टे,
इस राशि के लोगो का भाग्य उदय:- 23वें वर्ष में होते देखा गया है. आपके जीवन के 32, 41, 50, 68 व 77वां वर्ष अत्यंत महत्वपूर्ण व उन्नतिदायक होता है.
मित्र राशियां:- मिथुन, कन्या, मेष व धनु,
शत्रु राशियां:- बृषभ, तुला, मकर, कुम्भ,
कन्या राशि
राशि नाम अक्षर:- टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो,
इस राशि वालों का भाग्य उदय:- 24वें वर्ष के बाद भाग्य उदय के सुंदर अवसर प्राप्त होते है. 33, 42, 51, 60, 69 एवं 78वां वर्ष अत्याधिक उन्नतिदायक होता है.
मित्र राशियां:- मेष, मिथुन, सिंह, तुला,
शत्रु राशि:- कर्क,
तुला-राशि
नाम अक्षर:- रा, री, रु, रे, रो, ता, ती, तू, ते,
तुला राशि वालों का भाग्योदय:- 25वें वर्ष होता देखा गया है. इनके जीवन का 34, 43, 52, 61, 70 एवं 79वां वर्ष अत्यंत महत्वपूर्ण होता है.
मित्र राशियां:- मिथुन, कुम्भ, मकर, धनु, कर्क,
शत्रु राशि:- सिंह,
वृश्चिक-राशि
नाम अक्षर:- तो, ना, नी, नु, ने, नो, या, यी, यु,
भाग्य उदय वर्ष:- 28वां वर्ष, सफलता का वर्ष होता है. वैसे इनके जीवन में 35, 44, 52, 53, 71, एवं 80वां वर्ष विशेष प्रभावशाली होता है.
मित्र राशियां:- कर्क एवं मीन,
शत्रु राशियां:- मेष, मिथुन, सिंह, धनु,
धनु राशि
नाम अक्षर:- ये, यो, भा, भी, भू, ध, फ, ढ, भे,
आपका भाग्य उदय:- 32 वर्ष के बाद सम्भव होता है. 36, 42, 45, 54, 63, 72, एवं 81वां वर्ष प्रभावशाली व भाग्यवर्धक वर्ष होते है.
मित्र राशि:- मेष व सिंह,
शत्रु राशि:- कर्क, वृश्चिक और मीन,
मकर राशि
नाम अक्षर :- भो, जा, जी, जू, जे, जो, खा, खी, खू, खे, खो, गा, गी,
आपका भाग्य उदय :- 36वें वर्ष के बाद, 37, 46, 55, 64, 73 vव 82वें वर्ष शुभदायक होते है.
मित्र राशियां :- कुम्भ,
शत्रु राशियाँ :- सिंह और धनु,
कुम्भ राशि
नाम अक्षर:- गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द.
भाग्य उदय:- 36वें वर्ष में शुरू हो जाता है. वैसे जीवन के 29, 38, 47, 56, 57, 65, 74 व 83वें वर्ष अत्यधिक महत्वपूर्ण व उन्नतिदायक होते है.
मित्र राशियां:- मीन, मिथुन, मकर, वृष व तुला.
शत्रु राशियां:- कर्क, सिंह, वृश्चिक.
मीन राशि
आपका भाग्य उदय:- 32वें वर्ष में शुरू हो जाता है. आपके जीवन के 41, 45, 48, 58, 65, 85वें वर्ष शुभफलदायक होते है.
मित्र राशियां:- कर्क, वृश्चिक.
शत्रु राशियां:- मेष, सिंह, धनु,
नाम अक्षर:- दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची,
निवास के लिये उपयुक्त नगर:नामराशि से नगर की नामराशि
जातक की नाम राशि से नगर या मौहल्ला की नाम राशि 2, 5, 9, 10 व 11 वीं हो तो शुभ। 1, 7 हो तो शत्रु। 4, 8 व 12 हो तो रोग। 3, 6 हो तो रोग कारक समझना चाहिये। 

   नगर की राशि               व्यक्ति की नामराशि

                              मेष   वृष  मिथुन  कर्क   सिंह  कन्या तुला  वृश्चिक  धनु   मकर    कुम्भ    मीन
मेष                        बैर    रोग    शुभ    शुभ    शुभ    रोग    बैर    हानि    शुभ    रोग    हानि    शुभ
वृष                        शुभ    बैर    रोग    शुभ    शुभ    शुभ    रोग    बैर    हानि    शुभ    रोग    हानि
मिथुन                   हानि    शुभ    बैर    रोग    शुभ    शुभ    शुभ    रोग    बैर    हानि    शुभ    रोग
कर्क                      रोग    हानि    शुभ    बैर    रोग    शुभ    शुभ    शुभ    रोग    बैर    हानि    शुभ
सिंह                      शुभ    रोग    हानि    शुभ    बैर    रोग    शुभ    शुभ    शुभ    रोग    बैर    हानि
कन्या                    हानि    शुभ    रोग    हानि    शुभ    बैर    रोग    शुभ    शुभ    शुभ    रोग    बैर
तुला                      शुभ    हानि    शुभ    रोग    हानि    शुभ    बैर    रोग    शुभ    शुभ    शुभ    रोग
वृश्चिक                रोग    बैर    हानि    शुभ    रोग    हानि    शुभ    बैर    रोग    शुभ    शुभ    शुभ
धनु                      शुभ    रोग    बैर    हानि    शुभ    रोग    हानि    शुभ    बैर    रोग    शुभ    शुभ
मकर                    शुभ    शुभ    रोग    बैर    हानि    शुभ    रोग    हानि    शुभ    बैर    रोग    शुभ
कुम्भ                    शुभ    शुभ    शुभ    रोग    बैर    हानि    शुभ    रोग    हानि    शुभ    बैर    रोग
मीन                     रोग    शुभ    शुभ    शुभ    रोग    बैर    हानि    शुभ    रोग    हानि    शुभ    बैर
ज्योतिष,वास्तु ,एक्यूप्रेशर पॉइंट्स ,हेल्थ , इन सबकी डेली टिप्स के लिए-: लिंक को क्लिक  करके  लाइक करें :
  Shree Siddhi Vinayak Jyotish avm Vaastu Paramarsh kendra 


You Tube :click link:Astrology Simplified By Housi Lal Chourey
  Astrology, Numerology, Palmistry & Vastu Consultant : Mob No. 08861209966,    मुझे ईमेल करें ; ID : housi.chourey@gmail.com  .
लिंक को क्लिक  करके  लाइक करें,------
https://www.youtube.com/channel/UChJUKgqHqQQfOeYWgIhMZMQ

1 comment:

Blogger said...

Get your personal numerology reading.
Start the most fascinating journey of your life and learn your ultimate life purpose.